0

Computer क्या है? | Computer in Hindi

Spread the love
  • 2
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    2
    Shares

हेलो दोस्तों, आज हम जिस टॉपिक पर चर्चा करने वाले है वो है Computer क्या है? Computer in Hindi, वैसे तो आजकल सभी कंप्यूटर का उपयोग करते है तो सभी को इसके बारे में जानकारी होती है। लेकिन बहुत से ऐसी बाते होती है जिनके बारे में हमे पता नहीं होता है। इसलिए आज हम कंप्यूटर की बेसिक जानकारी जो की हमे पता होनी चाहिए, के बारे में इस लेख के माध्यम से जानेंगे।

Computer क्या है? |Computer in Hindi

इस लेख में हम जिन महत्वपूर्ण तथ्य पर बात करेंगे उनके बारे में जानते है।

Computer क्या है?

Computer का इतिहास

Computer की फुल फॉर्म क्या है?

Computer की परिभाषा

इस प्रकार के बहुत से सवालों के जवाब हम इस लेख के माध्यम से विस्तार से जानेंगे। इसलिए बने रहिये हमारे साथ अंत तक जिससे कंप्यूटर के बारे आप के मन में उपस्थित सभी सवालों के जवाब मिल जाये। आइये शुरू करते है।

Computer क्या है? | Computer in Hindi | What is Computer in Hindi

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो अर्थमेटिक और लॉजिकल गणना करने के काम आता है। यह इसका शुरू आती रूप है। आप को बस इसको अनुदेश देना होता है। जिसे इनपुट देना कहते है। बिना इसके यह अपने आप से कोई काम नहीं कर सकता।

कंप्यूटर का सर्वप्रथम आविष्कार चार्ल्स बेबेज नाम के वैजानिक ने किया था। शुरुआत में इसका उपयोग गणना करने के लिए किया जाता था। फिलहाल इसको स्टोरेज और प्रोसेसिंग मशीन कहा जाता है।

Computer की फुल फॉर्म क्या है?

कंप्यूटर लैटिन भाषा के शब्द कपट से बना है जिसका अर्थ गणना करना होता है। दोस्तों, वैसे तो कंप्यूटर की कोई स्टैण्डर्ड फुल फॉर्म नहीं होती है और इसकी बहुत सी फुल फॉर्म है जो उपयोग में ली जाती है। लेकिन हम इसकी सर्वाधिक प्रचलित फुल फॉर्म के बारे में बात करते है।

कंप्यूटर की फुल फॉर्म

C – Common, O – Operating, M – Machine

P – Purposely, U – Used For, T – Technological

E – Educational, R – Research

C.O.M.P.U.T.E.R – Common Operating Machine Purposely Used for Technological and Educational Research

Computer की फुल फॉर्म हिंदी में

सामान्य रूप से संचालित मशीन जो तकनिकी और शिक्षा के अनुसन्धान में उपयोग की जाती है।

Computer की परिभाषा हिंदी में

दोस्तों आज का युग कंप्यूटर का युग है। सभी प्रकार के कार्य इसके द्वारा संभव है। कंप्यूटर को हम कई रूपों में परिभाषित कर सकते है। आइये कंप्यूटर की सर्वाधिक प्रचलित परिभाषा को आसान शब्दों में समझते है।

कंप्यूटर एक विधुत उपकरण या मशीन है जो वेरिएबल के रूप में कीवर्ड से दिए गए अनुदेश या आदेश को बाइनरी रूप में संरक्षित और प्रोसेस करने का काम करता है। इसमें सभी कार्य पालक झपकते ही करने की क्षमता होती है।

आसान शब्दों में कहा जाये तो कंप्यूटर एक मशीन है जो अनुदेशों को इनपुट के रूप में लेता है। उनको प्रोग्राम के द्वारा प्रोसेस करता है और आउटपुट को हमारे समझने योग्य सूचना के रूप में प्रदान करता है।

Computer का इतिहास

कंप्यूटर की शुरुआत तेजी से गणना करने वाले यन्त्र के रूप में हुई थी। कंप्यूटर की खोज का श्रेय चार्ल्स बैवेज को जाता है। शुरआत से अब तक कंप्यूटर में समय समय पर बहुत से परिवर्तन होते रहे है। इन परिवर्तन को समय के साथ जनरेशन (पीढ़ी ) के रूप में जाना जाता है। अब हम कंप्यूटर की जनरेशन के बारे में जानकारी लेंगे।

First जनरेशन (1940 – 1959) :

इस समय को कंप्यूटर की पहली जनरेशन के रूप में जाना जाता है। यह कंप्यूटर का शुरूआती दोर है।
इसमें वैक्यूम टुब का उपयोग किया गया था।
मेमोरी के लिए मेगनेटिक टेप का उपयोग होता था।
इनकी साइज बहुत ज्यादा होती थी लगभग रूम के बराबर।
इनको चलाने में खर्चा भी ज्यादा आता था।
पहली जनरेशन के कंप्यूटर में मशीन लैंग्वेज का उपयोग किया जाता था।
इनमे इनपुट पंच कार्ड से तथा आउटपुट प्रिंट के रूप में आता था।
ये कंप्यूटर एक समय में एक ही काम करते थे।

उदाहरण :

UNIVAC, ENIAC

दूसरी पीढ़ी (1959 – 1965)

दूसरी पीढ़ी में वैक्यूम ट्यूब की जगह ट्रांजिस्टर का उपयोग होने लगा।
इसमें असेंबली भाषा का उपयोग होना शुरू हो गया।
ट्रांजिस्टर वाले कंप्यूटर पहले कंप्यूटर है जो आदेशों को मेमोरी में स्टोर करने लगे।
इस पीढ़ी के कंप्यूटर आकर में छोटे, तेज गति से काम करने वाले और सस्ते थे।
इनमे विधुत खर्च भी काम आता था।

उदाहरण :

UNIVAC 1108, CDS 3600, IBM 1600

तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर (1965 – 1971)

तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर में इंटीग्रेटेड सर्किट का उपयोग होने लगा जो एक सिलिकॉन चिप थी।
इससे कंप्यूटर बहुत छोटे और तेजी से काम करते थे।
ये पहले कंप्यूटर थे जिनमे कीबोर्ड और मॉनिटर का उपयोग होने लगा।
इसमें एक साथ कई कार्य संपन्न होते थे।

उदाहरण :

IBM 360, IBM 370, PDP

चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर (1971 – 1980)

चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर में इस की जगह माइक्रोप्रोसेसर का उपयोग होने लगा।
इसमें सभी फंक्शन एक ही चिप पर आ गए।
पहला माइक्रोप्रोसेसर इंटेल नामक कंपनी ने बनाया ( intel 4004 )
इससे कंप्यूटर बहुत ही छोटे हथेली पर आने लायक बन गए।
स्पीड भी बहुत ज्यादा हो गयी।
घर के उपयोग में आने वाला कंप्यूटर IBM में 1981 में बनाया।
माउस का उपयोग होने लगा।

उदाहरण :

Star 1000, CRAY, DEC 10, PDP 11

पांचवी पीढ़ी के कंप्यूटर (1981 – से अब तक )

पांचवी पीढ़ी के कंप्यूटर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर बेस्ड होंगे।
ये कोई भी कार्य करने में सक्षम होंगे।
रोबोट्स में इनका उपयोग किया जायेगा।
इस श्रेणी के कंप्यूटर सुपर कंप्यूटर होंगे।

इस प्रकार दोस्तों कंप्यूटर शुरुआत से अब तक परिवर्तित होता हुआ इस रूप में आ चूका है। जिसका इस्तेमाल अब हम सभी कर रहे है। इस पर लगातार काम चल रहा है और इसके बहुत से नये रूप लगातार सामने आते रहते है।

इस लेख से हमने क्या सीखा

दोस्तों इस लेख के माध्यम से हमने कंप्यूटर के बारे में विस्तार से जाना। इसमें Computer क्या है? Computer in Hindi के बारे में सीखा। उम्मीद करता हूँ आप को ये लेख पसंद आया होगा। आप अपने विचार हमसे अवश्य शेयर करें।

हिंदी दुनिया पर आने के लिए आप का बहुत बहुत धन्यवाद। इस लेख को शेयर करना ना भूलें।

  •  
    2
    Shares
  • 2
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

hindiduniyaa

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *