यदि आप ब्लॉग, वेबसाइट या youtube चैनल बनाना चाहते है तो हमसे संपर्क करे।

Email Id : contact@hindiduniyaa.com

Hindi दुनिया.Com

हिंदी में बहुत कुछ

Backlink क्या है और क्वालिटी बैकलिंक कितने प्रकार से बनाते है

नमस्कार दोस्तों, आज हम चर्चा करेंगे बैकलिंक्स बारे में। जो लोग SEO, ब्लॉग्गिंग या वेबसाइट के बारे में जानते है या उन पर काम करते है वो बैकलिंक के बारे में भली भाती जानते है। जो लोग इन सब में नये है उन के मन में हमेशा Backlink क्या है और क्वालिटी बैकलिंक कैसे बनाये के बारे में बहुत से सवाल रहते है जैसे :

बैकलिंक क्या है और कितने प्रकार की होती है ?

बैकलिंक कितने तरीके से बना सकते है ?

बैकलिंक से SEO में क्या फायदा होता है ?

क्या बैकलिंक का प्रभाव हमारी वेबसाइट या ब्लॉग के ट्रैफिक पर पढ़ता है ?

Backlink क्या है और क्वालिटी बैकलिंक कैसे बनाये
Backlink क्या है और कैसे बनाये

ऐसे ही बहुत से सवाल सभी के मन में आते है। आज इस आर्टिकल में हम इन सब सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगे। तो आइये जानते है बैकलिंक से जुडी महत्वपूर्ण जानकारियां जो आप के लिए बहुत फायदे मंद साबित होंगी।

Backlink क्या है? | Backlink kya hai | What is a Backlink

बैकलिंक का SEO में महत्वपूर्ण रोले है। हम कितना भी अच्छा SEO कर ले, लेकिन बैकलिंक के बिना अच्छा रिजल्ट पाना संभव नहीं है।

Backlink क्या है और क्वालिटी बैकलिंक कैसे बनाये
Backlink क्या है और क्वालिटी बैकलिंक कैसे बनाये

जब हम अपनी वेबसाइट का लिंक किसी और वेबसाइट पर लगाते है। जिस पर क्लिक करके विज़िटर हमारी वेबसाइट पर आ सके, तो हमने जो लिंक उस साइट पर लगाया है उसे ही बैकलिंक कहते है।

बैकलिंक मतलब एक वेबसाइट का लिंक दूसरी वेबसाइट पर डालना।

इसके लिए हम एक उदाहरण लेते है :

आप ने अभी नई नई एक दुकान खोली है और उस पर आप बहुत बड़ी कंपनी (ब्रांड ) का प्रोडक्ट बचते है। जिस को सभी लोग जाते है। इसका फायदा आप को अवश्य मिलेगा क्योकि आप का डायरेक्ट उस कंपनी से लिंक है। जो लोगो को यह सुनश्चित करती है की दुकान तो नई है लेकिन उस का माल अच्छा है।

इसी प्रकार बैकलिंक भी काम करते है। जब किसी भी वेबसाइट (नई या पुरानी) का लिंक हाई डोमेन अथॉरिटी वाली वेबसाइट पर लगाते है तो सर्च इंजन उस वेबसाइट को जल्दी रैंक करता है। क्योकि सर्च इंजन यह जनता है कि कोई भी ताकतवर वेबसाइट (हाई डोमेन अथॉरिटी) यदि किसी छोटी साइट का लिंक अपनी साइट पर लगा रही है तो जरूर उस में कोई बात है।

बैकलिंक कितने प्रकार के होते है ? | Backlink ke Prakar | How many type of Backlinks

मित्रो आप ने उदाहरण के द्वारा बैकलिंक के बारे में जाना। अब हम बैकलिंक के कितने प्रकार होते है उस के बारे में जानेगे।
बैकलिंक मुख्यत: दो प्रकार के होते है।

  1. NoFollow Backlink
  2. DoFollow Backlink

अब हम NoFollow Backlink और DoFollow Backlink के बारे में विस्तार से जानेगे।

1. NoFollow Backlink

जब आप अपनी वेबसाइट का लिंक दूसरी वेबसाइट पर लगते है लेकिन उस साइट का ओनर आप की साइट को ऑथेंटिकेट नहीं करता है। मतलब वो वेबसाइट हमारी साइट के बारे में किसी भी प्रकार की गारंटी या सिफारिश नहीं करती है बस उस पर हमारी साइट का लिंक होता है। उसे ही नोफ़ॉलो बैकलिंक कहते है। इसलिए गूगल सर्च इंजन इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।

लेकिन जब बहुत अधिक संख्या में नोफ़ॉलो बैकलिंक बन जाते है तो उस का प्रभाव अवश्य ही हमारी साइट पर पड़ता है।

इसको यदि हम एक उदाहरण के द्वारा समझे तो आप ने बहुत सी बार देखा होगा कि कई बार जब कोई बड़ी कंपनी किसी प्रोडक्ट को बेचती है तो उस के बारे में कोई गारंटी नहीं लेती और लोगो को अपनी रिस्क पर खरीदने की बोलती है। जैसे चीनी प्रोडक्ट।

उसी प्रकार वेबसाइट आप के लिंक को अपनी साइट पर लगा तो लेती है लेकिन गूगल को उस के बारे में कोई जानकारी नहीं देती है।

Nofollow Backlink के बारे में कैसे जाने

<a href=”Apni website Ka link” rel=”nofollow”>Link ka Name</a>

2. DoFollow Backlink

DoFollow Backlink, NoFollow Backlink से बिलकुल अलग है। इसमें यदि कोई वेबसाइट हमारी साइट का लिंक लगाती है तो उस के बारे में गूगल को जानकारी देती है और गूगल को हमारी साइट के अच्छी होने के बारे में गारंटी देती है। इससे हमारी साइट को सर्च इंजन रैंकिंग में फायदा होता है और डोमेन अथॉरिटी बढ़ती है।

DoFollow Backlink, SEO के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

Nofollow Backlink के बारे में कैसे जाने

<a href=”Apni website Ka link” >Link ka Name(Anchor Text)</a>

बैकलिंक कितने प्रकार से बनाते है | Backlink Kaise Banaye

बैकलिंक बनाने के कई तरीके है। हाई क्वालिटी बैकलिंक बनाने के लिए आप को थोड़ी मेहनत करनी पड़ेगी। बैकलिंक किसी दूसरी वेबसाइट से अपनी वेबसाइट पर एक लिंक होता है। यदि कोई हमसे कहे कि आप उसकी साइट का लिंक अपनी साइट पर लगा लो तो आप भी इसमें अपना फायदा देंखेंगे। इसीलिए सभी को साइट पर लिंक लगाने के लिए कोई न कोई रीज़न चाहिए।

अब हम बात करते है बैकलिंक बनाने के तरीको के बारे में ।

1. Guest Posting

आजकल Guest Posting, बैकलिंक के लिए सबसे अच्छा और पावरफुल तरीका है। बहुत सी वेबसाइट या ब्लॉग गेस्ट पोस्टिंग स्वीकार करते है। गेस्ट पोस्टिंग के लिए आप को वेबसाइट के ओनर से बात करनी होंगी। उसकी परमिशन से ही हम उस की साइट पर किसी टॉपिक पर पोस्ट या आर्टिकल लिख सकते है। यह एक बहुत ही शानदार तरीका है जिसके द्वारा अपनी साइट की Search Ranking, Domain Authority, Page Authority बढ़ा सकते है।

2. Comment Posting

Comment Posting भी बैकलिंक लेने का एक तरीका है। किसी भी ब्लॉग पर जाके आप उस पर कमेंट कर सकते है जिस में आप की वेबसाइट का लिंक डाले। बहुत सी साइट तो कमेंट को तुरंत Approve कर देती है और बहुत सी साइट्स पर कमेंट Waiting में चला जाता है जो की यदि साइट ओनर को पसंद आता है तो वो उसे Approve कर देता है या नहीं भी करता है। कमेंटिंग से NoFollow बैकलिंक मिलता है। NoFollow बैकलिंक यदि High Domain Authority वाली साइट से मिलता है तो यह कुछ हद तक फायदे मंद हो सकता है।

3. Question-Answer Sites

Quora जैसी बहुत सी Question-Answer साइट है। जहा पर लोग अपने Question पूछते है। उनमे से आप अपने ब्लॉग से रिलेटेड Question सेलेक्ट करके उनका जबाव दे सकते है और उस में अपनी साइट का लिंक ऐड कर दे। जिससे बैकलिंक के साथ साथ आप को ट्रैफिक भी मिलेगा।

इसमें आप को NoFollow तथा DoFollow दोनों प्रकार के लिंक मिलेंगे।

4. Content Quality

आप के वेबसाइट का कंटेंट इतना पावरफुल होना चाहिए जो लोगो को बहुत पसंद आये। अच्छा कंटनेट सभी तरीके से आप के साइट को सफल बनाने के लिए बहुत ही आवशयक है। अच्छे और लोगो के लिए फायदेमंद कंटेंट के द्वारा आप के ब्लॉग पर अधिक ट्रैफिक आएगा तथा बैकलिंक भी आसानी से मिल जाएँगे।

5. Internal Linking

जब हम किसी टॉपिक पर पोस्ट लिखते है तो हमे उस टॉपिक से सम्बंधित जितने भी पोस्ट या आर्टिकल हमारे ब्लॉग पर है । उन सब का यूआरएल इस पोस्ट में लगाना चाहिए। इससे Internal Linking बढ़ती है जो SEO के लिए बहुत फायदे मंद है। इससे हमारे ब्लॉग पर Engagement भी बढ़ता है और बाउंस रेट भी काम होता है।

6. Social Sharing

जितने भी सोशल मीडिया प्लेटफार्म है उन सभी पर अपने साइट का पेज बनाये। उन पर अपनी ब्लॉग पोस्ट शेयर करे और लोगो को भी शेयर करने के लिए बोले। इससे बैकलिंक के साथ साथ ट्रैफिक भी बढ़ेगा।

बैकलिंक बनाने के जितने भी तरीके है आप उन सब का उपयोग करके बैकलिंक जरूर बनाये। बैकलिंक से हमारी साइट की ताकत इंटरनेट पर बढ़ती है। जिससे ब्लॉग की सर्च रैंकिंग, डोमेन अथॉरिटी और पेज अथॉरिटी बढ़ती है और अधिक ट्रैफिक आता है। जितना ज्यादा ट्रैफिक उतनी ज्यादा कमाई।

इस प्रकार आप ने Backlink क्या है और क्वालिटी बैकलिंक कैसे बनाये, के बारे में विस्तार से जाना। उम्मीद करता हूँ बैकलिंक से जुड़े सभी सवालों के जवाब आप को इस लेख को पढ़ने के बाद मिल गए होंगे। फिर भी यदि आप का कोई प्रश्न हो तो कमेंट कर के पूछ ले। में अवश्य ही जवाव देने की कोशिश करूँगा। धन्यवाद

Keyword: Backlink क्या है और क्वालिटी बैकलिंक कैसे बनाये, backlink kya hai aur quality backlink kaise banaye, backlink kitne prakar se banate hai, backlink kaise banaye, nofollow backlink, dofollow backlink, best ways to make backlinks, backlink checker, what is a backlink, how to make backlink.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial
Pinterest
LinkedIn
Share
Instagram
error: Content is protected !!