0

Taliban Kon Hai in Hindi

Spread the love

सभी जानते है अफगानिस्तान में इस समय हालात बहुत ख़राब है। वहां के लोग अपनी सम्पत्ति को छोड़ कर अपने देश से भाग रहे है और ऐसा हो रहा है Taliban के अफगानिस्तान पर अधिकार करने के कारण। यहाँ तक कि वहां के राष्ट्रपति भी देश छोड़ भाग चुके है। लेकिन क्या आप जानते है अफगानिस्तान में ऐसा क्यों हो रहा है। तालिबान से लोगों में इतना डर क्यों है। आइये जानते है Taliban Kon Hai in Hindi

Taliban Kon Hai in Hindi
Taliban Kon Hai in Hindi

Taliban Kon Hai

Taliban एक संगठन का नाम है जिसने हाल ही में अफगानिस्तान पर कब्ज़ा कर लिया है। तालिबान एक पश्तो भाषा का शब्द है जिसका मतलब छात्रों का संगठन होता है। लेकिन ये स्कूल में पढ़ने वाले छात्र नहीं है। ऐसे छात्र जो इस्लामिक बिचारधारा को मानते है। ये अपने धर्म के प्रति बहुत कट्टर होते है। ये इस्लामिक शरिया कानून को मानने वाले होते है और उसके लिए कुछ भी करने को तैयार रहते है।

तालिबान की स्थापना

तालिबान स्थापना 1994 में हुई थी। इसका हेडक्वाटर कंधार, अफगानिस्तान में है। इसके संस्थापक मोहम्मद ओमर और अब्दुल गनी बरादर है। तालिबान ने 1996 से 2001 तक अफगानिस्तान पर अपनी सत्ता काबिज की थी। जब तालिबान सत्ता में आया तो उसने अफगानिस्तान के राष्ट्रपति की सरेआम हत्या कर दी थी। आप इसी से अंदाजा लगा सकते है कि आम लोगो पर तालिबान ने कैसे कैसे जुर्म किये होंगे।

2001 में अमेरिका ने अपनी फौज अफगानिस्तान में भेजी और वहा से तालिबान का सफाया कर दिया। अफगानिस्तान में फिर से सरकार की स्थापना की।


2001 से 2021 तक अमेरिका की फौज अफगानिस्तान में रही। उसने वहां पर अफगानिस्तान की फौज को लड़ने की ट्रैनिंग दी। उसको आधुनिक हथियारों से लेस किया। यह काम अमेरिका ने लगातार 20 साल तक किया। उसने वहा पर अपना बहुत पैसा खर्च किया लेकिन नये अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के एक निर्णय ने उस पूरी मेहनत को बर्वाद कर दिया। अफगानिस्तान के जिन सैनिको को अमेरिका पिछले 20 साल से ट्रेनिंग दे रहा था वे तालिबान से लड़े ही नहीं। करीब 70 हजार तालिबानियों के खिलाफ 3 लाख की अफगानी फौज ने बिना लड़े हथियार डाल दिए। इसको या तो उनकी मिलीभगत कहेंगे या कायरता।

हाल ही में जब अमेरिका ने अपनी फौज वापस बुलाने की घोषणा की और जैसे ही तालिबान को यह खबर लगी उसने चीन और पाकिस्तान की मदद से फिर से अफगानिस्तान पर कब्ज़ा कर लिया। वहां की फौज ने बिना लड़े ही अपने हथियार डाल दिए जिनको अमेरिका ने 20 साल तक ट्रेनिंग दी थी। उसने अमेरिका के हथियारों पर भी कब्ज़ा कर लिया। जिससे दुनिया के सामने संकट खड़ा हो गया। यह सब अमेरिका की बड़ी नाकामी के कारण हो रहा है। तालिबान एक कट्टर मुस्लिम संगठन है। वहा पर लोगों की जान लेना कोई बड़ी बात नहीं है। वह बच्चों, महिलाओं, जवान किसी को भी नहीं छोड़ता। महिलाओ के लिए तो वह काल के समान है। इसलिए तालिबान के डर से वहा के लोग अपना देश छोड़ कर भाग रहे है।

भारत के डरे हुए लोगों के लिए तालिबान क्या है ?

तालिबान एक शांतिप्रिय समुदाय का संगठन है। इनको इंसान कहना तो उन पर जुल्म करना होगा। क्योकि ये आत्मा को परमात्मा से मिलाने का कार्य करते है। ये ऐसे लोग है जो महात्मा गांधी के चरखे पर विश्वास करते है। इन्होने चरखा चला चला कर इतना सूत काटा जिसको देख कर अमेरिका भी इनका देश छोड़ कर भाग गया।

वैसे तो ये ज्यादा पढ़े लिखे नहीं है लेकिन ये जीव अपने आप में डॉक्टर से कम नहीं है। ये किसी भी आम आदमी की समस्या का समाधान गोली देकर तुरंत करते है। आज दुनिया में सबसे शांत देश अफगानिस्तान है। महिलाओ के लिए तो इनके दिल में बहुत इज़्ज़त है। यदि कोई भी महिला बुरका नहीं पहनती है घर से अकेली निकल भी जाती है तो भी ये जीव उनको हंटर या गोली से नहीं मारते है। उसका फूलो से स्वागत किया जाता है। वहा पर चारों तरफ बोलने, घूमने फिरने की आजादी है। यदि कोई ऐसा करने में सक्षम नहीं है तो उसके लिए अलग से 72 हूरों की व्यवस्था है।

भारत के कुछ लोगों लिए तो यह देश इस समय स्वर्ग से कम नहीं है। भारत में इतनी आजादी नहीं है इसलिए यहाँ पर बहुत से लोगो को तो डर भी लगता है। आप यहाँ पर प्रधानमंत्री को गाली भी नहीं दे सकते। लेकिन यदि आप वहां पर गाली देना चाहते है तो गाली के साथ साथ आप को गोली भी दी जाती है। सबसे अच्छी बात वहां पर शरिया कानून है और आरएसएस नाम का बेहद खतरनाक संगठन भी नहीं है। कुल मिलकर जो लोग भारत में परेशान है उनके लिए तो अफगानिस्तान इस समय स्वर्ग से कम नहीं है। Taliban Kon Hai in Hindi

hindiduniyaa

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *