2

Coronavirus क्या है और इससे कैसे बचा जा सकता है

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Coronavirus क्या है और इससे कैसे बचा जा सकता है at hindiduniyaa.com

Coronavirus क्या है और इससे कैसे बचा जा सकता है ? यह कैसे फैलता है? जैसे कई प्रश्न आजकल लोगो के दिमाग में आ रहे है क्योकि कोरोना वायरस तेजी से फैलता जा रहा है। लोग इससे बचने के तरीके ढूढ़ रहे है। कोरोना वायरस इतना भयाभय है की एक बार इस की चपेट में आने के बाद पीड़ित को बचना मुश्किल है। Coronavirus क्या है और इससे बचने के उपाय क्या है । क्योकि अभी तक इस वायरस से बचने की कोई परमानेंट मेडिसिओं नहीं है।

Coronavirus क्या है

कोरोनावायरस, वायरस का एक प्रकार हैं जो आम तौर पर मनुष्यों सहित स्तनधारियों के श्वसन पथ को प्रभावित करता हैं। यह सामान्य सर्दी, निमोनिया और गंभीर तीव्र श्वसन सिंड्रोम (SARS) से जुड़ा हैं और आंत को भी प्रभावित कर सकता हैं।कोरोना वायरस नया वायरस नहीं है यह बहुत पुराना वायरस है

Coronavirus क्या है और इससे बचने के उपाय क्या है । कोरोना virus (COV) वायरस का एक बड़ा परिवार है जो सामान्य सर्दी से लेकर अधिक गंभीर बीमारियों तक का कारण होता है। कोरोन virus जूनोटिक होते हैं, जिसका अर्थ है कि वे जानवरों और लोगों के बीच प्रेषित होते हैं। जांच में पाया गया कि SARS-CoV को civet बिल्लियों से मनुष्यों और MERS-CoV से ड्रोमेडरी ऊंटों से मनुष्यों तक पहुँचाया गया। कई ज्ञात कोरोना virus उन जानवरों में घूम रहे हैं जिन्होंने अभी तक मनुष्यों को संक्रमित नहीं किया है।

कोरोना वायरस की शुरुआत कहाँ से हुई ?

WHO के अनुसार कोरोना वायरस 31 दिसंबर 2019 को चीन के वुहान से पहली बार सामने आया था।नावेल कोरोनावायरस (nCoV) एक नया प्रकार की बीमारी है जो पहले मनुष्यों में पहचाना नहीं गया है।WHO के संदर्भ में कोरोना वायरस एक महामारी, “एक बीमारी का विश्वव्यापी प्रसार” है। चीन के बाहर लगभग 25 देशों में कोरोना वायरस के मामलों की पुष्टि की गई है, लेकिन डब्ल्यूएचओ की सूची में सभी 195 देशो में इस का अलर्ट घोषित किया गया है। बहुत कम मामलों को छोड़कर यह उन देशों के भीतर भी नहीं फैल रहा है, । लेकिन चीन से यात्रा करने वाले लोगो के द्रारा इस बीमारी के फैलाने की सम्भावना हैं।

चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस की शुरुआत हुई थी। यह शहर इस वायरस की चपेट में बुरी तरीके से आ चूका है। यहाँ मरने वाले लोगो की संख्या दिनों दिन बढ़ती जा रही है।

एक न्यूज़ रिपोर्ट के अनुसार इबोला और फ्लू अन्य उदाहरण हैं, और गंभीर तीव्र श्वसन सिंड्रोम (Sars) और मध्य पूर्वी श्वसन सिंड्रोम (Mers) दोनों कोरोना virus के कारण होते हैं जो जानवरों से आए थे। 2002 में, Sars लगभग 37 देशों में अनियंत्रित हो गई, जिससे वैश्विक दहशत फैल गई, और 8,000 से अधिक लोग संक्रमित हो गए और 750 से अधिक लोग मारे गए। Mers मानव से मानव में आसानी से पारित हो जाते हैं, और अधिक से अधिक घातक हैं, जिसने 2400 संक्रमित लोगों में से 35% को मार दिया था।

कोरोना वायरस का इतिहास

कोरोना वायरस एक बहुत पुराना वायरस है इस की शुरुआत सन 1960 में हुई थी कोरोना वायरस का नाम उसके distinctive कोरोना या “crown” की तरह surgary – प्रोटीन्स से मिलती है जो की एक एनवेलप की तरह पार्टिकल के चारो और सुररौनडिंग करता है। इस वायरस की make up ki एन्कोडिंग सबसे लम्बी जीनोम है

भारत में कोरोना वायरस की कहाँ पाया गया।

भारत में भी कोरोना वायरस की शुरुआत हो चुकी है। इस बीमारी का सबसे पहला रोगी भारत के केरल राज्य में पाया गया है। भारत जैसे बड़े देश में इस बीमारी को फैलने से रोकने के हर संभव प्रयास सरकार द्रारा किये जा रहे है।

कोरोना वायरस के लक्षण

कोरोना वायरस एक बहुत गंभीर बीमारी है इस रोग का अभी तक कोई इलाज नहीं मिल पाया है। कोरोना वायरस के लक्षण जानवरो और इंसानो में अलग अलग होते है। नावेल कोरोना वायरस 2019 जिस की शुरुआत चीन से हुई है, के निम्न लक्षण है।

  • बुखार
  • खांसी या कफ आना
  • सांस लेने में तकलीफ
  • संक्रमण से निमोनिया
  • गंभीर तीव्र श्वसन सिंड्रोम
  • गुर्दे (kideny) की विफलता

संक्रमण के सामान्य संकेतों में श्वसन संबंधी लक्षण, बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ और सांस लेने में कठिनाई शामिल हैं। अधिक गंभीर मामलों में, संक्रमण से निमोनिया, गंभीर तीव्र श्वसन सिंड्रोम, गुर्दे की विफलता और यहां तक कि मृत्यु भी हो सकती है।

कोरोना वायरस से बचने के उपाय

कोरोना वायरस का अभी तक कोई इलाज नहीं है। 2019-nCoV संक्रमण को रोकने के लिए वर्तमान में कोई टीका विकसित नहीं है। संक्रमण को रोकने का सबसे अच्छा तरीका इस वायरस के संपर्क में आने से बचना है।
भारत सरकार और CDS (के) ने कोरोना वायरस से बचने के लिए कुछ गाइड लाइन जारी की हैं:

  • बीमार लोगो के संपर्क से बचें।
  • अपनी आंखों, नाक और मुंह को बिना धुले हाथों से छूने से बचें।
  • बीमार होने पर घर पर रहें।
  • अपनी खांसी और छींकें के समय टिश्यू पेपर का उपयोग करे, फिर टिश्यू को कूड़े में फेंक दें।
  • नियमित घरेलू सफाई स्प्रे या पोंछे का उपयोग करके साफ और कीटाणुरहित करे।
  • अपने हाथों को खासकर बाथरूम जाने के बाद, खाने से पहले और अपनी नाक बहने के बाद, खाँसना, या छींकना के बाद कम से कम 20 सेकंड तक साबुन और पानी से धोएं,
  • अपने मुँह पर फेसमास्क का उपयोग करें।
  • फेसमास्क का उपयोग उन लोगों द्वारा किया जाना चाहिए जो 2019 के नावेल कोरोनावायरस के लक्षण दिखाते हैं, ताकि दूसरों को संक्रमित होने के जोखिम से बचाया जा सके।
  • फेसमास्क का उपयोग स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और उन लोगों के लिए भी महत्वपूर्ण है, जो करीबी लोगो जो (घर पर स्वास्थ्य देखभाल) में किसी की देखभाल कर रहे हैं।

कोरोना वायरस का इलाज

अभी तक कोरोना वायरस का कोई इलाज नहीं है। इन्फेक्टेड लोगो को तुरंत डॉक्टर के पास ले जाये और पूर्ण अपने बॉडी की समूर्ण जांच करवाए । वैसे कोरोना वायरस से पीड़ित व्यक्ति में करीब 14 दिन में सिम्प्टम दिखायी देते है।

इस लेख में आप ने कोरोना वायरस के बारे जानकारी से ये जाना की इस वायरस से बचना ही इस का इलाज है। यदि आप को कोई भी व्यक्ति में एसे सिम्पटम्स दिखाए दे तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

hindiduniyaa

2 Comments

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *