0

10 खेल जो भारत ने दुनिया को सिखाए

Spread the love

अभी हाल ही में ओलंपिक खेल खत्म हुए है। भारत ने एक स्वर्ण पदक के साथ 7 पदक अपने नाम किए। यह पिछले वर्ष की तुलना में बहुत अच्छा प्रदर्शन है। लेकिन यह हमारी जनसख्या के हिसाब से अच्छा स्थान नहीं है। जो भारत कभी खेलो में अपना नाम रखता था जिसने दुनिया को बहुत से खेल खेलना सिखाया उसने आज खेलो में अपनी पहचान खो दी है। आज हम बात करने वाले है 10 ऐसे खेलो के बारे में जिनका जन्म भारत में हुआ।

10 खेल जो भारत ने दुनिया को सिखाए
10 खेल जो भारत ने दुनिया को सिखाए

बहुत से लोग तो ये भी नहीं जानते की भारत ने बहुत से खेल दुनिया को दिए है। जिनका नाम बदल कर लोग आज कल खेलते है। खेलों में भारतीय इतिहास बहुत पुराना है। यहाँ तक महाभारत में भी खेलो का वर्णन मिलता है। लेकिन पता नहीं क्यों भारतीय लोगों ने अपनी संस्कृति को सभाला नहीं। यहाँ तक भारत ने तो हजारों वर्षो से पूजनीय गाय के मूत्र का पेटेंट भी नहीं करवाया। यह काम अमेरिका ने किया है।

चलिए हम इधर उधर की बातों को छोड़ते हुए अपने टॉपिक पर आगे बढ़ते है और जानते है 10 ऐसे खेल जो भारत ने दुनिया को सिखाए।

1. Saap sidi या Snake & Ladder

सांप सीढ़ी का खेल भारत में हज़ारों सालों से खेला जा रहा है। इसका वर्तमान स्वरूप 13 वी शताब्दी में संत ज्ञान देव ने दिया था। इसको भारत में मोक्षपट के नाम से जाना जाता था। इसका उद्देश्य बच्चो में जीवन मूल्य समझाना था।

19 वी शताब्दी में अंग्रेज़ इसको अपने साथ ले गए और इसका नाम snake & ladder रख दिया।

2. Ludo

लूडो का प्रचलन आजकल बहुत ज्यादा हो रहा है। हर तरफ लूडो खेलते लोग मिल ही जाते है। क्योकि आजकल यह मोबाइल में खेला जाता है।
लूडो कोई नया खेल नहीं है यह हज़ारों वर्षो से भारत में खेला जा रहा है। इसको पहले पच्चीसी के नाम से जाना जाता था। लूडो की शुरुआत को लेकर अलग अलग मत विद्यमान है। एक मत के अनुसार यह सबसे पहले माता पार्वती और शिव जी के द्वारा कैलाश पर्वत पर खेला गया था।

महाभारत में भी इस खेल से संबंधित जानकारी प्राप्त होती है। समय समय पर कई परिवर्तनों के साथ यह आज लूडो के रूप में विद्यमान है।

अब तो आप जान चुके होंगे की लूडो का खेल भारत की देन है।

3. Chess या शतरंज

दुनिया में जितने भी खेल है उनमें शतरंज सबसे ज्यादा दिमाग वाला खेल है। इसमें आप को अपने दिमाग का पूर्ण रूप से इस्तेमाल करना ही पड़ेगा। अब तो आप ने सोच ही लिया होगा की इतने अच्छे अच्छे खेल का आविष्कार तो जरूर अंगेजो ने ही किया होगा। लेकिन आप यहाँ पर गलत है क्योकि शतरंज की खोज भारत में हुई है।

पुराने समय में इसको चतुरंगनी के नाम जाना जाता था। जिसका अर्थ होता था चार अंगो वाली सेना। एक मत के अनुसार इसकी खोज लंकेश रावण की पत्नी मंदोदरी ने किया था।

विदेशों में जाने के वाद इसका नाम चैस(Chess) हो गया। हमारे बहुत से धर्म ग्रंथो में इसका उल्लेख मिलता है।

4. Polo

पोलो भी पुराना भारतीय खेल है। करीब दो हजार साल पहले घोड़े के साथ भारत के मणिपुर राज्य में पोलो का खेल खेल जाता था। उस समय इसको सगोल कंगजेट के नाम से जाना जाता था। बहुत से लोगो ने इसको चौगान भी कहा था।

जब अंग्रेज ने इसको देखा तो उन्हें यह बहुत पसंद आया। उन्होंने कई नियम बनाये और इसका नाम पोलो रक् दिया।

5. तीरंदाजी (Archery)

तीरंदाजी प्राचीन भारतीय कला है। यहाँ बहुत से धनुर्धर हुए है जो बिना देखे भी लक्ष्य को निशाना बना सकते थे। शब्द भेदी वाण चलाने की कला यहाँ बहुत प्रसिद थी।
यहाँ तक प्रथवीराज चौहान भी शब्दभेदी वाण चलाने में महारत रखते थे।
एक कहावत प्रसिद्द है “चार वाँस चौबीस गज , अंगुल अष्ट प्रमाण
ता ऊपर सुल्तान है मत चुके चौहान “

अंग्रेजो ने इसका नाम Bow and Arrow दिया।

6. हॉकी (Hockey )

भारत का राष्ट्रीय खेल हॉकी है। यह प्राचीन काल से ही खेला जा रहा है। ओलिंपिक में भी भारत ने हॉकी में कई पदक जीते है। कुछ लोग इसकी शुरुआत मिश्र से मानते है। लेकिन कई जगह पर डंडे से गेंद को मारने वाले खेल का उल्लेख मिलता है।

7. कबड्डी

कबड्डी प्राचीन भारतीय खेल है। इसमें आत्मरक्षा और शिकार के तरीको को सिखाया जाता था। इसका उल्लेख महाभारत काल में भी मिलता है। भारत में होने वाली कबड्डी प्रतियोगिता का नाम pro kabaddi league है।

8. कुश्ती

कुश्ती प्राचीन भारतीय कला है। पुराने समय में इसे मल्ल युद्ध कहा जाता था। हनुमानजी, भीम, दुर्योधन जैसे बलबान योद्धा यहाँ पर हुए है। धारा सिंह का नाम तो आप ने सुना ही होगा। वे कुश्ती के बहुत बड़े पहलवान थे।

Important: indian games

hindiduniyaa

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *