0

पागल भूत ने देखो क्या किया लोगो के साथ

Spread the love

भूत की कहानी डरावनी

हेलो और नमस्कार दोस्तों, आज मैं आप लोगों के लिए आज भूत की कहानी डरावनी लेकर आ गया हूं! , भूतिया कहानी सुनाओ |

भूत की कहानी डरावनी

भूतिया कहानी सुनाओ

भूतिया कहानी सुनाओ

यह कहानी है आसाम के एक छोटे से गांव में रहने वाले दीपक की । जो अपने गांव से कुछ दूर शहर के एक कॉलेज में पढ़ाई करता था ।

उसकी गांव से शहर थोड़ी दूरी पर था, जिसके लिए उसको एक सुनसान जंगल के रास्ते से होकर जाना पड़ता था ।

उसे कॉलेज से घर आने में थोड़ा ज्यादा समय लगता था । लेकिन फिर भी वह अपनी पढ़ाई को लेकर बहुत ज्यादा ही सजग था ।

दीपक एक बहुत ही होशियार विद्यार्थी था जो सिर्फ अपनी पढ़ाई में ही ध्यान देता था, वह घर से कॉलेज और कॉलेज से सीधे घर आता था ।

वह अपने घर से ज्यादा बाहर नहीं निकलता था, दिनभर अपनी पढ़ाई में ही समय बिताता था ।

उसे बाहरी दुनिया से कोई मतलब नहीं था ।

और इसीलिए गांव में क्या हो रहा है उसके बारे में उसको कोई जानकारी नहीं होती थी!

1 दिन रोज की तरह दीपक कॉलेज से घर आ रहा था, उस दिन कॉलेज में किसी प्रोग्राम की तैयारियां हो रही थी ।

उस प्रोग्राम में दीपक ने भी भाग लिया था, और उसी की तैयारी करते हुए उसको घर आने में बहुत देरी हो जाती है ।

शाम के 6:00 बज चुके थे, आज अंधेरा हो रहा था । ऐसे में दीपक उस जंगल के रास्ते से अकेले चलते हुए घर आ रहा था।

उस दिन दीपक को वह जंगल का रास्ता बहुत लंबा और डरावना लग रहा था ।

कोई भी दिखाई नहीं दे रहा था, चारों तरफ से कई तरीके के पक्षियों की आवाज आ रही थी ।

पक्षी बहुत जोर से आवाज कर रहे थे, उसे समझ नहीं आ रहा था कि आखिर क्या हो रहा है?

फिर भी वह इन बातों पर ध्यान ना दे कर आगे बढ़ रहा था ।

तभी अचानक उसके पीछे से एक काला साया गुजरता है, वह इतना तेज था कि उसे दीपक देख ही नहीं पाया!

दीपक बहुत डर जाता है, वह डर के मारे इधर-उधर देखने लगता है!

लेकिन उसको कोई भी दिखाई नहीं दे रहा था, वह आवाज लगाता है लेकिन कोई जवाब नहीं देता ।

फिर डरते डरते वह आगे बढ़ने लगता है, उसका पूरा शरीर कांप रहा था ।

फिर से दीपक को ऐसा एहसास होता है कि कोई उसके पीछे से बहुत तेजी से गुजरा हो!

वाह फिर से पीछे पलट कर देखता है लेकिन उसे कोई दिखाई नहीं देता ।

वह तेजी से भागने लगता है, वह महसूस करता है कि कोई उसका पीछा कर रहा है! कोई उसके पीछे दौड़ रहा है!

दौड़ते दौड़ते जब आप पीछे पलट कर देखता है तो वह देखता है कि – एक काला साया जिसका कोई चेहरा नहीं था, उसके पीछे दौड़ रहा था ।

वह बहुत घबरा जाता है और इसी का घबराहट के कारण वह पत्थर से टकरा कर गिर जाता है ।

उसके पैरों पर चोट लगती है जिसके कारण वह उठ नहीं पा रहा था !

फिर उसे महसूस होता है कि जैसे कोई उसके पैरों को पकड़ रहा है, और फिर वह काला साया उसके पैरों को खींचते हुए दीपक को जंगल के अंदर ले कर चला जाता है ।

दीपक को कुछ साफ साफ दिखाई नहीं दे रहा था, लेकिन उसे ऐसा महसूस हो रहा था जैसे कोई उसके शरीर पर नाखूनों से वार कर रहा हो!

वह वहां से भागने की कोशिश कर रहा था, वह अपनी जान बचाने की कोशिश कर रहा था।

थोड़ी देर बाद सब कुछ शांत हो जाता है, और दीपक मौका देखते ही उठता है, और वहां से तेजी से भागते हुए अपने घर पहुंच जाता है ।

उस दिन की शाम बहुत डरावनी थी, वह घर आकर सारी बातें अपने घर वालों को बताता है ।

गांव के लोगों से उनको पता लगता है कि – हमारे ही गांव के एक 28 वर्षीय युवक कि अचानक मानसिक स्थिति खराब हो गई थी,

जिसके कारण वह पागलों की तरह व्यवहार करने लगा था, और फिर कुछ दिनों बाद उसने उसी जंगल में जाकर आत्महत्या कर ली थी ।

तब से उस जंगल के रास्ते में अजीब सी घटनाएं हो रही है!

दीपक बहुत घबरा जाता है, और कुछ दिनों तक कॉलेज जाना बंद कर देता है ।

घर से बाहर नहीं निकलना दीपक को बहुत भारी पड़ा!

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है कि आप लोगों को यह भूत की कहानी डरावनी जरूर पसंद आई होगी, और अगर ऐसी भूतिया कहानी सुनाओ सुननी है तो बनी रही हमारे साथ ।

hindiduniyaa

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *